ईमानदार जिला कलेक्टर के निष्पक्ष जांच आदेश की धज्जियां उड़ाकर धारडी में संबल योजना के अन्य दोषियों को बचा रहे हैं प्रशासनिक अधिकारी जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष प्रकाश राका श्री राका ने जिला कलेक्टर सहित उच्च अधिकारियों से निष्पक्ष जांच करवाकर अन्य दोषियों पर भी कार्रवाई करने की मांग की

*ईमानदार जिला कलेक्टर के निष्पक्ष जांच आदेश की धज्जियां उड़ा कर धारडी में संबल योजना के अन्य दोषियों को बचा रहे हैं प्रशासनिक अधिकारी —- जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष प्रकाश राका*

*श्री राका ने जिला कलेक्टर सहित उच्च अधिकारियों से निष्पक्ष जांच करवाकर अन्य दोषियों पर भी कार्रवाई करने की मांग की*

जावद:- नीमच जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष प्रकाश राका ने ग्राम पंचायत धारडी में संबल योजना की अनुग्रह राशि में भ्रष्टाचार घोटाले और ग्राम पंचायत से शासकीय रिकॉर्ड के गायब होने और अन्य दोषी कर्मचारियों को बचाने का जांच अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि विगत दिनों जावद जनपद की धारडी ग्राम पंचायत में शासन की संबल योजना की अनुग्रह राशि में हुए बड़े घोटाले और भ्रष्टाचार का मामला उजागर हुआ था जिसकी जिले के ईमानदार जिला कलेक्टर द्वारा निष्पक्ष जांच कराने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों की एक जांच टीम का गठन कर निष्पक्ष जांच करने के लिए आदेशित किया गया किंतु जांच टीम द्वारा निष्पक्ष और बारीकी से जांच नहीं करते हुए मात्र खानापूर्ति कर जांच को अंजाम दिया गया तथा जांच की इतिश्री करते हुए मात्र सचिव और सहायक सचिव पर मुकदमा दर्ज करवाया गया जबकि जांच अधिकारियों द्वारा घोटाले में सामने आए नामों के अलावा भी ग्राम पंचायत में जन्म मृत्यु के लिए दर्ज पंजी रजिस्टर सहित अन्य रिकॉर्ड को भी जांच के दौरान जप्त करना था और वर्ष 2018 से लेकर 2021 के दौरान जितने भी अनुग्रह राशि वितरण के हितग्राही थे उनकी निष्पक्ष जांच कर उनका भौतिक सत्यापन किया जाना था लेकिन जांच अधिकारियों द्वारा यह नहीं किया गया इससे यह प्रतीत होता है कि जांच अधिकारियों द्वारा निष्पक्ष जांच नहीं करते हुए संबल योजना की अनुग्रह राशि घोटाले मैं अन्य दोषी लोगों को इसमें बचाया गया है श्री राका ने कहा कि इस बात को और बल मिलता है कि क्षेत्र के जागरूक नागरिकों द्वारा सूचना के अधिकार अधिनियम के अंतर्गत एक आवेदन ग्राम पंचायत को प्रस्तुत किया गया था जिसमें जन्म मृत्यु पंजी रजिस्टर की प्रमाणित प्रतियां चाही गई थी लेकिन समय बीत जाने के बावजूद पंचायत कर्मियों द्वारा जानकारियां उपलब्ध नहीं कराई गई जिससे यह प्रतीत होता है कि कहीं ना कहीं जन्म मृत्यु रजिस्टर में दर्ज बड़े मामले को दबाने का प्रयास अधिकारियों की मिलीभगत से किया जा रहा है जिससे उच्च अधिकारियों को अवगत करा कर ग्राम पंचायत धारडी में हुए अनुग्रह राशि घोटाले की निष्पक्ष जांच कराने व घोटाले में लिप्त अन्य दोषी लोगों पर कार्रवाई करने की मांग की जाएगी और फिर भी दोषी लोगों को बचाया गया तो आंदोलन की राह पर उतरना पड़ेगा श्री राका ने प्रशासनिक अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि जल्द से जल्द ग्राम पंचायत धारडी के रिकॉर्ड को जांच में शामिल कर चाहे वह कितना भी बड़ा और रसूख रखने वाला क्यों ना हो उन लोगों पर कारवाई की जाए