कांग्रेस का युवा संवाद कार्यक्रम- युवाओं ने खुल कर पूछे सवाल,नेताओं ने हर मुद्दें पर दिए जवाब

 

नीमच। बीते 8 वर्ष में देश में हंगाई तीन गुना बढी है, पर महंगाई के मुकाबले व्यापारियों का लाभांश नहीं बढा है। सरकार व्यापारियों टैक्स तो वसूल रही है, पर उनके हितों का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। युवाओं के साथ भी कुठराघात किया जा रहा है। रोजागर के अवसर बढाने के वादे जरूर किए गए, पर उन्हें पूरा करने के प्रयास नहीं किए गए। बात मप्र की करें तो पूरे प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है।
यह बात शुक्रवार को पूर्व मंत्री जयवर्धनसिंह और प्रियव्रतसिंह ने लायंस डेन में आयोजित कार्यक्रम में युवाओं के सवालों के जवाब देते हुए कही। दोनों नेताओं से युवाओं ने खुल कर सवाल पूछे तो नेताओं ने भी हर मुद्दें पर जवाब दिया और युवाओं को संतुष्ठ किया। नेताद्वय ने कहा कि कोरोना काल में शिक्षा के स्तर में भारी गिरावट हुई, जिसे सुधारने के लिए शिक्षा नीति में सुधार की जरूरत है। सरकारी नौकरियां व्यापमं जैसे घोटालों की भेंट चढ रही है। हालात यह है कि संविदा शिक्षक परीक्षा का पेपर लीक होता है, वह भी भाजपा के मंत्री गोविंदसिंह के कॉलेज सागर में। दोनों नेताओं ने युवा संवाद में युवाओं के सवालों के जवाब देते हुए कहा कि उनकी सरकार आई तो प्रत्येक समस्या पर नीति निर्धारण कराएंगे, ताकि आमजन को राहत मिले।
कार्यक्रम के आरंभ में महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यापर्ण कर कार्यक्रम की शुरूआत की गई। युवा संवाद कार्यक्रम के संयोजक तरूण बाहेती ने स्वागत भाषण देते हुए कार्यक्रम की रूप रेखा प्रस्तुत की। कार्यक्रम में जिला कांग्रेस अध्यक्ष अजीत कांठेड़, पूर्व विधायक नदंकिशोर पटेल,संयोजक तरुण बाहेती,पूर्व मंडी अध्यक्ष उमरावसिंह गुर्जर, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष सोमिल नाहटा, राकेश पाटीदार, सत्यनारायण पाटीदार, अनिल चौरसिया आदि मंचासीन थे। कार्यक्रम का संचालन भगत वर्मा ने किया, जबकि आभार एवं आमंत्रित अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट विनोद दक ने किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में युवा और कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे। कार्यक्रम के अंत में डांस दीवाने में नीमच की प्रतिभा उदय एवं 5 चयनित बालिकाओं को सम्मानित भी किया गया।

इन्होंने को मिले सवालों के जवाब-
नर्सिंग छात्रा सुनिती सिंह ने परीक्षा समय पर नहीं होने का मुद्दा उठा, जिस पर जयवर्धनसिंह ने कहा कि इस मुद्दें को वे विधानसभा में उठाएंगे कि आखिर क्यों परीक्षाओं में देरी हो रही है, जिसके कारण युवाओं का साल बिगड़ रहा है।
छात्रा अंजली जाटव ने समय पर छात्रवृत्ति नहीं मिलने की समस्या उठाई, जिस पर प्रियव्रतसिंह ने कहा कि यह समस्या उनके समक्ष आ चुकी है, वे लागतार इस मुद्दें को उठा रहे हैं।
पायल पाटीदार ने कहा कि नर्सिंग करने के बाद भी लंबे समय से उनका रजिस्ट्रेशन नहीं हो रहा है, पहले मार्कशीट देरी से आई, अब रजिस्ट्रेशन में देरी हो रही है। इस पर जयवर्धनसिंह ने जवाब दिया कि यह सरकार और यूनिवर्सिटी की गलत नीति है। हमारी सरकार आएगी कि तो नियमों में सुधार किया जाएगा।
युवक गोविंद पाटीदार ने सरकारी नौकरियों के लिए होने वाली भर्त में योग्य को मौका नहीं मिलने का मुद्दा उठाया, जिस पर प्रियव्रतसिंह ने कहा कि यह सरकार की सबसे बड़ी खामी है। व्यापमं जैसे घोटाले युवाओं के भविष्य को खराब कर रहे हैं। हमने सुधार का प्रयास किया था, पर सरकार चली गई। फिर सरकार बनती है, तो सुधार करेंगे।
व्यापारी कमल मित्तल ने भाजपा के शासन में व्यापारी वर्ग के भारी परेशान होने का मुद्दा उठाया, जिसका जवाब देते हुए जयवर्धनसिंह ने कहा कि बीते 8 वर्ष में महंगाई तीन गुना बढी है, पर व्यापारियों के लाभांश में वृद्धि नहीं हुई है। सरकार अपने लाभांश के लिए व्यापारियों से टैक्स वसूली में लगी हुई है। जीएसटी के नाम भी व्यापारियों को परेशान किया जा रहा है। नीमच की कृषि उपज मंडी प्रदेश की बड़ी मंडियों में शामिल है, पर व्यापारियों को मिलने वाली बुनियादी सुविधाओं को अभाव है।
अधिवक्ता विजयशंकर शर्मा ने जमीनों के बंदोबस्त का मुद्दा उठाया, जिस पर प्रियव्रतसिंह ने कहा कि हमने सरकार से मांग की है कि किसी भी गांव का बंदोबस्त करने से पूर्व पुराना रिकार्ड नहीं है, तो एरियल सर्वे के साथ ही पुराने लेंड मार्क का आधार बनाकर एरियल और मेन्यूअर सर्वे कराया जाए, फिर नक्शे बनाए जाए, ताकि विवाद के हालात पैदा नहीं हो।
विमल शर्मा ने बंगला-बगीचा समस्या का मुद्दा उठाया, जिस पर जयवर्धनसिंह ने जवाब दिया कि जब में नगरीय प्रशासन मंत्री था, तब यह मुद्दा मेरे समक्ष आया था। मैं नीमच कलेक्टर से मामले में संशोधन प्रस्ताव भेजने को कहा था, जिस पर तत्कालीन कलेक्टर ने 17 सितंबर 2019 को पत्र भी भेजा था, लेकिन विडंबना हमारी सरकार चली गई और भाजपा सरकार ने मामले में गंभीरता नहीं दिखाई।
कार्यक्रम में सूजरमल आर्य, महेश नंदवाना, छात्रा हर्षिता पाटीदार, य यादव गोलू, नर्सिंग छात्र जितेंद्र टेलर आदि ने विभिन्न मुद्दें उठाए, जिनका सहजता पूर्वक दोनों नेताओं ने जवाब दिए और कार्रवाई का आश्वासन दिया।