केंद्र के बजट में इस साल 80 लाख से अधिक पक्के घर बनाने का प्रावधान राष्ट्र का कल्याण तभी संभव जब गरीबों का कल्याण हो प्रधानमंत्री श्री मोदी अगले 1 वर्ष में प्रत्येक जिले में 75 अमृत सरोवर के निर्माण का आह्वान गरीबों को पक्के घर देकर अहसान नहीं हक और अधिकार दे रही मध्य प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री श्री चौहान

*केन्द्र के बजट में इस साल 80 लाख से अधिक पक्के घर बनाने का प्रावधान*

*राष्ट्र का कल्याण तभी संभव, जब गरीबों का कल्याण हों: प्रधानमंत्री श्री मोदी*

*अगले एक वर्ष में प्रत्येक जिले में 75 अमृत सरोवर के निर्माण का आव्हान*

*गरीबों को पक्के घर देकर अहसान नहीं हक और अधिकार दे रही मध्यप्रद्रेश सरकार: मुख्यमंत्री श्री चौहान*

*प्रधानमंत्री द्वारा मध्यप्रदेश के 5.21 लाख गरीब परिवारों को आवासों का गृह प्रवेश*

भोपाल:- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि गरीबों का कल्याण और उनकी आर्थिक प्रगति ही उनकी सरकार का मुख्य उद्देश्य है। आजादी के बाद पहली बार देश में ऐसी सरकार बनी है, जो लोगों के सुख-दुख में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। उन्होंने बताया कि गरीबों को पक्का घर देना सरकार का अभियान ही नहीं बल्कि गरीब को गरीबी से बाहर निकालने की पहली सीढ़ी है। श्री मोदी आज नई दिल्ली से वर्चुअल रूप से मध्यप्रदेश के 5.21 लाख गरीबों को उनके आवास का गृह प्रवेश करवाने के लिये आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। मध्यप्रदेश के छतरपुर के पं. बाबूराम चतुर्वेदी स्टेडियम में गृह प्रवेशम को लेकर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, सूक्ष्म, लद्यु और मध्यम, उद्यम, विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं प्रभारी मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामखिलावन पटेल, विधायक सर्वश्री प्रद्युम्न सिंह लोधी, राजेश प्रजापति, राजेश शुक्ला भी उपस्थित थे।
केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर, ग्रामीण विकास मंत्री श्री गिरिराज सिंह, सामाजिक न्याय और अधिकारिता डॉ. वीरेन्द्र कुमार, केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते, केन्द्रीय जल शक्ति राज्यमंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति सहित मध्यप्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया व मंत्रीगण, सांसद, विधायक आदि ने वर्चुअली रूप से जुड़कर प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री का संबोधन सुना।
प्रधानमंत्री श्री मोदी ने मध्यप्रदेश सहित देश के उन सभी गरीबों को आश्वस्त किया कि इस साल केन्द्र सरकार के बजट में 80 लाख से अधिक घर बनाने का प्रावधान किया गया है। जिसका लाभ म.प्र. को भी मिलेगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना में अब तक सवा दो लाख करोड़ से अधिक खर्च हो चुके है। इस योजना से ग्रामीण अर्थ व्यवस्था को मजूबती और गांवों में लोगों को रोजगार के अवसर मिले है। श्री मोदी ने प्रदेश के उन सभी 5.21 लाख गरीब परिवारों को बधाई दी जिनका हिन्दू नववर्ष की पूर्व बेला में गृह प्रवेश होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में गरीबी दूर करने के नारे तो बहुत लगे पर गरीबों को सशस्त करने का जितना काम होना चाहिए था उतना हुआ नहीं। उन्होंने कहा कि सबका साथ सबका विकास के मंत्र के साथ गरीबों का कल्याण भी होना चाहिए। प्रदेश के 5.21 लाख गरीबों के आवास का निर्माण सिर्फ एक आकड़ा नहीं बल्कि देश में सशस्त होते गरीब की पहचान है। इस अभियान में गांव की गरीब महिलाओं को लखपति बनने का मौंका मिला है। गरीब के सिर पर छत होगी तो उसका पूरा का ध्यान बच्चों की पढ़ाई और परिवार में स्थिरता लाने पर होगा।
श्री मोदी ने बताया कि उनकी पूर्ववर्ती सरकार ने गरीबों को कुछ ही लाख पक्के घर दिये थे। जबकि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में अब तक 2.50 करोड़ पक्केे घर दिये जा चुके है। इनमें से 2 करोड़ आवास गांव में बने है। मध्यप्रदेश के लिये स्वीकृत 30.50 लाख में से 24 लाख से अधिक पूरे हो चुके है। जिनका लाभ बैगा, सहरिया आदि जनजातियों में भी मिला है। गरीबों को जो पक्के घर मिले है उनमें अन्य जरूरतों का भी पूरा ध्यान रखा गया है। जिसके लिये अब उन्हें सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने पड़ते है। इक्कीस वीं सदी में नारी शक्ति सशक्त हों रही है। इसी का परिणाम है कि अब तक जो गरीबों के पक्के घर बने है उनमें 2 करोड़ का मालिकाना हक महिलाओं को भी मिला। देश में 2 करोड़ से अधिक परिवारों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया। श्री मोदी ने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को 6 माह के लिये आगे बढ़ाया गया है। बीते सौ साल में सबसे बड़ी महामारी कोरोना के दौरान 2 लाख 60 हजार करोड़ रूपये खर्च किये गये, अभी 80 हजार करोड़ और खर्च होंगे। राशन की सूची में पूर्व से शामिल 4 करोड़ फर्जी नामों को साल 2014 के बाद हटाया गया। जितनी भी केन्द्र सरकार की योजना चल रही है अब कोई भी गरीब उनसे वचिंत न रह सकेंगा। खेती, किसान, पशुपालक सभी को आधुनिक तकनीक से जोड़ा जा रहा है। स्वामित्व योजना में गांव के घरों का सर्वे हो रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान को अनाज की रिकार्ड खरीदी के लिये बधाई भी दी। इस बात पर भी प्रशंसा की कि प्रदेश के 90 लाख किसानों को 13 हजार करोड़ की राशि छोटे-छोटे कार्यो के लिये दी गई।
श्री मोदी ने अमृत महोत्सव को नई पीढ़ी के लिये प्रेरणादायक बनाने का आव्हान करते हुये नववर्ष प्रतिपदा से अगले वर्ष के दौरान प्रत्येक जिले में 75 अमृत सरोवर बनाने का संकल्प लेने को कहा। अमृत सरोवर मानव और मानवता के लिय महत्वपूर्ण होगा। श्री मोदी ने प्रदेश के सभी 5.21 लाख परिवारों का रिमोट का बटन दबाकर गृह प्रवेश करवाया तथा अपनी शुभकामनाएं दी।
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री को आश्वस्त किया कि मध्यप्रदेश के सभी जिलों में 75-75 अमृत सरोवर बनाये जाएगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 5.21 लाख गरीबों को प्रधानमंत्री आवास योजना में पक्के घर की सौगात देकर श्री मोदी उनकी जिदंगी में नया सवेरा लेकर आये है। यह साधारण योजना नहीं बल्कि गरीबों की जिदंगी बदलने का अभियान है। मध्यप्रदेश के गरीबों को आवास देकर सरकार उनका हक व अधिकार दे रही है। अहसान नहीं कर रही है। गरीबों को सबसे पहले रोटी चाहिए जो मध्यप्रदेश सरकार पूरी कर रही है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना सितम्बर माह तक बढ़ाया गया है जिसमें गरीबों को 5 किलो निःशुल्क अन्न दिया जाएगा। मध्यप्रदेश सरकार द्वारा भी मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना मे 5 किलो अनाज दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के ऐसे गरीब परिवार जिनके के पास जमीन का टुकड़ा नहीं है उनको मुफ्त में प्लाट दिया जाएगा। यदि भूमि शासकीय नहीं है तो खरीदकर दी जायेगी। आज 5.21 लाख आवासों का गृह प्रवेश हो रहा उस पर 7 करोड़ खर्च किये जा रहे है।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि इस साल गरीबों के पक्के मकान बनाने पर 10 हजार करोड़ खर्च होगे। अगले 2 वर्ष 2023 व 2024 में आवासीन गरीबों के 10-10 लाख पक्के घर बनाये जाएगे। मध्यप्रदेश में अब कोई गरीब कच्चे मकान में नहीं रहेगा। मध्यप्रदेश सरकार ने गरीबों की जिदंगी बदलने और सवारने का अभियान शुरू किया है। आगामी अप्रैल से मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में 51 हजार रूपये की राशि को बढ़ाकर 55 हजार रूपये किया जा रहा है। मुख्यमंत्री की तीर्थ दर्शन योजना, संबंल योजना भी शुरू की जा रही। आयुष्मान योजना के तहत गरीबो का मुफ्त इलाज हो रहा है। मध्यप्रदेश सरकार गरीबों के बेटे-बेटियों की उच्च शिक्षा की फीस भी भरेंगी। उन्होंने गुंडे-बदमाशों को पुनः चेताया कि यदि आमजन को कष्ट दिया तो उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा, अब बुल्डोजर चलेगा। बेईमानी और गरीब किसानों का खून चूसने वाले अब बचेंगे नहीं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 44 हजार करोड़ लागत की केन-बेतवा परियोजना के शिलान्यास के लिये प्रधानमंत्री मोदी को आमंत्रण भी दिया। श्री चौहान ने बताया कि 30 मार्च को रोजगार दिवस मनाया जाएगा। आगामी 2 जून को छतरपुर में महाराज छत्रसाल की जयंती को गौरव दिवस के रूप में मनाया जाएगा। उन्होंने नागरिकों का आव्हान किया कि अपने गांव, शहर में एक दिन गौरव दिवस के रूप में मनाये।
प्रारंभ में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कन्या पूजन एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। प्रभारी मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री रामखिलावन पटेल, विधायकगण तथा अन्य जनप्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री आवास योजना पर आधारित लद्यु फिल्म का प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्रीमती ललिता यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री मलखान सिंह, पूर्व विधायक श्रीमती रेखा यादव, श्री उमेश शुक्ला, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती अर्चना गुड्डू सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि, संभागायुक्त श्री मुकेश शुक्ला, आईजी श्री अनुराग, कलेक्टर श्री संदीप जी आर, पुलिस अधीक्षक श्री सचिन शर्मा तथा बड़ी संख्या में जनसमूह उपस्थित था।

*छतरपुर जिले के 26 हजार 175 हितग्राही लाभान्वित*

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कर कमलों द्वारा आज प्रदेश के जिन 5.21 लाख आवासीन परिवारों को पक्के घरों का प्रवेश कराया गया, उनमें छतरपुर जिले के 26 हजार 175 हितग्राही भी शामिल है। इनमें बड़ामलहरा ब्लॉक के 2399, बिजावर के 2564, बक्स्वाहा के 1072, छतरपुर के 3284, गौरिहार के 5550, लवकुशनगर के 4585, नौगावं के 1567 तथा राजनगर के 5154 हितग्राही शामिल है।

*विकास कार्यों का भूमि-पूजन, लोकार्पण*

राज्य स्तरीय समारोह में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जिले के लिये अनेक विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन भी किया। उन्होंने सरवई, गौरिहार, मातौध मार्ग से खड्डी से चंद्रपुरा तक टू लाइनएवं पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज के 6 अतिरिक्त कक्ष का भूमि-पूजन तथा बिजावर, बाजना से दमोह वाया भोजपुर, पड़रिया मार्ग, सरसेड़ से कैथोकर वाया गुडो एवं नयागावं से बिलहरी वाया झिंझन मार्ग सहित अन्य कार्यों का लोकार्पण भी किया।