जीवन में आगे बढ़ने के लिए आत्मविश्वास समय प्रबंधन एवं सकारात्मक सोच जरूरी –– मंत्री श्री सकलेचा नीमच में अपराजिता कार्यक्रम के तहत बालिकाओं का मार्शल आर्ट प्रशिक्षण संपन्न

*जीवन में आगे बढ़ने के लिए आत्मविश्वास समय प्रबंधन एवं सकारात्मक सोच जरूरी है- मंत्री श्री सखलेचा*

*नीमच में “अपराजिता कार्यक्रम” के तहत बालिकाओं का मार्शल आर्ट प्रशिक्षण संपन्न*

नीमच 19 मार्च 2021
प्रदेश के सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यम विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री श्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा है कि जीवन में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है आत्मविश्वास , समय प्रबंधन एवं सकारात्मक सोच।
“आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश-आत्मनिर्भर भारत” के लिए देश-प्रदेश की 50 फ़ीसदी आबादी महिलाओं की भागीदारी जरूरी है ,मन में सुरक्षा का भाव होगा तो आत्मविश्वास भी बढ़ेगा और आत्मविश्वास से हर संभव लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है।
मंत्री श्री सखलेचा शनिवार को नीमच के शासकीय श्री सीताराम जाजू कन्या महाविद्यालय में 8 से 19 मार्च तक आयोजित बालिकाओं के मार्शल आर्ट प्रशिक्षण अपराजिता के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे ।
इस मौके पर नीमच विधायक श्री दिलीप सिंह परिहार, जिला पंचायत प्रधान श्रीमती अवंतिका मेहर सिंह जाट, श्री पवन पाटीदार , जिला पंचायत सीईओ श्री गुरु प्रसाद, सांसद प्रतिनिधि श्रीमती किरण शर्मा,श्री मोहन सिंह राणावत, श्री हेमंत हरित व अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
मंत्री श्री सखलेचा ने कहा कि जीवन में अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए नॉलेज अपडेशन और मन की एकाग्रता बहुत जरूरी है। आत्मविश्वास के साथ निरंतर प्रैक्टिस करने से वांछित लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है ,उन्होंने कहा कि देश और दुनिया में महिलाओं को मैनेजमेंट का गुरु माना गया है महिलाओं में प्रबंधन की अद्भुत क्षमता होती है।
विधायक श्री दिलीप जी परिहार ने अपने उद्बोधन में कहा कि देश और प्रदेश में बेटियां आज आत्मनिर्भर बन रही है ,प्रदेश सरकार बेटियों की प्रतिभा निखारने का काम कर रही है।
अपराजिता कार्यक्रम भी बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए है ।
जिला पंचायत प्रधान श्रीमती अवंतिका जाट ने कहा कि बेटियां आज हर क्षेत्र में अव्वल आ रही है उनमें अद्भुत नेतृत्व क्षमता होती है।
कार्यक्रम को जिला पंचायत सीईओ श्री गुरु प्रसाद ने संबोधित करते हुए कहा कि स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का वास होता है, कार्यक्रम को सांसद प्रतिनिधि श्रीमती किरण शर्मा ने भी संबोधित किया।
जिला महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यक्रम अधिकारी श्री संजय भारद्वाज ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयोजित अपराजिता कार्यक्रम के तहत मार्शल आर्ट प्रशिक्षण के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि, 150 बालिकाओं ने 8 मार्च से 19 मार्च तक मार्शल आर्ट का आत्मरक्षार्थ प्रशिक्षण प्राप्त किया है।
मुख्य प्रशिक्षक श्री भरत कुमावत के नेतृत्व में इस प्रशिक्षण में भाग लेने वाली बालिकाओं ने मार्शल आर्ट की आत्मरक्षार्थ विभिन्न कलाओं का प्रदर्शन किया, जिसे अतिथियों एवं उपस्थित जनों ने सराहा।
मंत्री श्री सखलेचा एवं विधायक श्री दिलीप सिंह परिहार ने प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली बालिकाओं एवं मास्टर ट्रेनर्स को प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किए
प्रारंभ में अतिथियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं मां सरस्वती तथा श्री सीताराम जाजू जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। तत्पश्चात श्री संजय भारद्वाज, प्राचार्य डॉ मीना हरित ,श्री ताराचंद मेहरा, श्री भरत कुमावत, श्री वसीम सिद्दीकी एवं प्रशिक्षु छात्राओं ने पौधे भेंट कर अतिथियों का स्वागत किया। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती साधना सेवक ने किया तथा अंत में श्री संजय भारद्वाज ने आभार व्यक्त किया।
महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा खेल एवं युवक कल्याण विभाग के सहयोग से आयोजित इस कार्यक्रम में जनप्रतिनिधि अधिकारी- कर्मचारी, गणमान्य नागरिक ,पत्रकार गण एवं छात्राएं उपस्थित थी।