रतनगढ़ निवासी सात वर्षीय अल्फेज ने रखा पहला रोजा परिवार में खुशी का माहौल

सात वर्षीय अल्फेज ने रखा पहला रोजा,
परिवार में खुशी का माहौल।

सिंगोली: रमजान माह में छोटी उम्र के बच्चों में भी रोजे रखने का उत्साह देखा जा रहा है। चिलचिलाती धूप व तेज गर्मी के बाद भी बच्चे रोजे रखने में पीछे नहीं रह रहे हैं।
रतनगढ़ निवासी एक सात वर्षीय बालक ने गुरुवार को पहला रोजा रखा। रोजा रखने के साथ ही उसने वालिदा के साथ इबादत भी की। दोपहर बाद कमजोरी आने के बाद भी उसने हिम्मत नहीं हारी और अल्लाह की इबादत में मशगूल रहा।
रतनगढ़ स्थित वार्ड क्रमांक 6 नदी दरवाजा मोहल्ला निवासी जावेद हुसैन कुरेशी (प्राध्यापक) हाल मुकाम सिंगोली के सात वर्षीय पुत्र अल्फेज़ हुसैन ने जुमेरात को पहला रोजा रखा।
अल्फेज सिंगोली कस्बा स्थित संस्कार विद्या निकेतन की कक्षा 3री में पढ़ता है। वह दीनी पढ़ाई के साथ-साथ अपनी कक्षा में भी अव्वल है। कई दिन से रोजा रखने की जिद कर रहे अल्फेज ने दोपहर तक का समय घर में ही गुजारा। दोपहर में उसने जौहर की नमाज अदा की शाम के समय जोर से प्यास व भूख की शिद्दत दिखी तो कमजोरी का अहसास भी किया, लेकिन असर की नमाज अदा करने के बाद उसने घर के बाहर इफ्तारी तकसीम में हाथ बंटाया। अलफेज के पहला रोजा रखने से परिवार के लोगों में खुशी है।