“लापता नेहा जोशी “मामले मे आया नया मोड़ लापता नेहा जोशी कहा से हुइ बरामत जानने के लिए पढ़े खबर

नीमच।

नेहा जोशी के लापता होने के बाद पिता का अनशन और सामाजिक संगठनों में आक्रोश के बाद पुलिस कप्तान सुरज कुमार वर्मा के निर्देशन में एक विशेष टीम का गठन किया गया। फिर पुलिस की इसी विशेष टीम ने लगातार नेहा जोशी की तलाश शुरू की, टीम ने पाइंट टू पाइंट सुरागों को तलाशा, और लगातार एमपी के साथ राजस्थान के कई शहरों में दबिश भी दी। लगातार दबिश देने के बाद आखिरकार वो दिन आ ही गया। जिसका नीमच जिले की जनता के साथ हर किसी को इंतजार था। पुलिस कप्तान सूरज कुमार वर्मा की इसी विशेष टीम ने लापता नेहा जोशी को आखिरकार खौज निकाला है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सामने आया है कि दबिश के इस दौरान पुलिस की विशेष टीम राजस्थान के प्रतापगढ़ क्षेत्र भी पहुंची। जहां से टीम ने नेहा जोशी को खौज निकाला। जिसके बाद उसके समझाइश देते हुए नीमच लाया गया। जिसके बाद पुलिस इस मामले का विस्तार से खुलासा करेगी, की आखिर भादवामाता से युवती कैसे गायब हुई, और प्रतापगढ क्षेत्र कैसे पहुंची। जानकारी में सामने आया है कि, मामले को लेकर एसपी सूरज कुमार वर्मा ने रविवार दोपहर 1 बजे प्रेसवार्ता भी आयोजित की है।
आपकों बता दें कि बीते दिनों इसी मामले को लेकर एसपी सूरज कुमार वर्मा ने जिला पुलिस कंट्रोल रूम पर एक प्रेसवार्ता का आयोजन भी किया था। जिसमें उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब तो दिए ही, साथ ही उन्होंने साफतोर पर कहा था कि, पुलिस की विशेष टीम और उसमे शामिल अनुभवी अधिकारी लगातार मामले में जांच कर रहे है। जल्द ही उन्हें कोई बड़ा सुराग मिल सकता है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि, संभवतः लापता नेहा जोशी के मामले में इसी माह सफलता हाथ लगने की संभावना है।

गौरतलब है कि बीते करीब 14 माह पहले नीमच जिले के ग्राम आतरीमाता निवासी 20 वर्षीय युवती नेहा जोशी अपने घर से लापता हो गई थी। जिसके बाद उसके पिता राकेश जोशी ने मनासा थाने में शिकायत दर्ज कराई, और पुलिस ने मामले की जांच शुरू की। लेकिन 14 महिने बीत जाने के बाद भी पुलिस उसका कोई पता नहीं लगा पाई, जिसके बाद नेहा के पिता राकेश जोशी जिला कलेक्टोरेट कार्यालय में अनशन पर बैठे, और यह अनशन करीब 25 दिनो तक लगातार जारी रहा। इसी बीच इस मामले में ऐसा तूल पकड़ा की, नीमच जिले में आंदोलन, नारेबाजी और धरनों का दौर शुरहो गया।
इस दौरान शहर और जिले के कई सामाजिक संगठन मैदान में उतरे। जिसके बाद जिला कलेक्टर और एसपी के नाम ज्ञापनों का लगातार दौर शुरू हुआ। इस पर एसपी और वरिष्ठ अधिकारियों ने निर्देशन में एक विशेष पुलिस टीम का गठन किया गया, और नेहा जोशी की पड़ताल शुरू की गई, जिसके बाद इसी विशेष टीम को आज सफलता हाथ लगी।
पुलिस की विशेष टीम में यह शामिल-
आपकों बता दें कि पुलिस कप्तान सूरज कुमार वर्मा के निर्देशन में जिस विशेष टीम का गठन किया गया था। उसमें टीआई योगेन्द्र सिंह सिसौदिया, टीआई करणी सिंह शक्तावत, ओ.एल बारिया, एसआई फतेह सिंह आंजना, उनि हर्षिता सांवरिया, एएसआई रामपाल सिंह, प्रआर दुर्गाशंकर तिवारी, आरक्षक विजय गुरा, आरक्षक विवेक धनगर, और आरक्षक लखनप्रताप सिंह सहित साइबर सेल नीमच की विशेष भूमिका रही।