शासन के स्वच्छता अभियान की नगर में उड़ रही है धज्जियां, खुले में पड़ा कूड़ा कचरा मच्छर पैदा कर मार रहा बदबू, परिषद कर्मचारियों की लापरवाही के चलते डेंगू मलेरिया जैसी घातक बीमारियां फैलने का अंदेशा

शासन के स्वच्छता अभियान की नगर में उड़ रही है धज्जियां खुले में पड़ा कूड़ा कचरा मच्छर पैदा कर मार रहा बदबू

परिषद कर्मचारियों की लापरवाही के चलते डेंगू मलेरिया जैसी घातक बीमारिया फेलने का अंदेशा

सिंगोली:- शासन के स्वच्छता अभियान की नगर में कर्मचारी लापरवाही कर धज्जियां उड़ा रहे हैं खुले में पड़े कूड़ा कचरा नालियों में जमा होकर सड़ांध मार रहा है और उसमें मच्छर पनप रहे हैं जिससे डेंगू मलेरिया जैसी घातक बीमारियां फैलने का अंदेशा बना हुआ है ऐसा नहीं है कि परिषद कर्मचारियों को नगर के जागरूक नागरिक ने अवगत नहीं कराया बावजूद लापरवाही का खामियाजा आम जनता भुगत रही है जबकि समय-समय पर परिषद शासन के लाखों रुपए स्वच्छता अभियान पर खर्च कर नगर में स्वच्छता अभियान का ढिंढोरा पीटकर झूठी रैंकिंग के आंकड़े पेश कर वाही वाही लूट रही है और धरातल पर सच्चाई कुछ और नजर आ रही है नगर में शासन का स्वच्छता अभियान किस तरह संचालित हो रहा है यह आम चौराहों गलियों नुक्कड़ जगहो पर पड़े कचरे के ढेरों को देखकर लगाया जा सकता है वर्षा ऋतु के कारण नाली किनारे कचरे के ढेर नालियों में जमा होकर लंबे समय से बदबू मार रहे है लेकिन परिषद कर्मचारियों को यह सब नजर नहीं आ रहा है और वह मुख दर्शक बनकर गंभीर बीमारियो के फेलने का इंतजार कर रहे हैं परिषद कर्मचारियों के नकारा रवैये और लापरवाही के चलते आम जनता गंदगी के ढेरों से परेशान हो चुकी है उसकी कोई सुनने वाला नहीं है अंधेर नगरी और चौपट राजा की तर्ज पर परिषद संचालित हो रही है नगर के नागरिकों ने उच्च अधिकारियों से मांग करते हुए कहा कि समय रहते नगर में स्वच्छता अभियान पर विशेष ध्यान देकर मलेरिया डेंगू जैसी बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए ठोस कदम उठाए।