श्री गोरेश्वर महादेव रतनगढ़ में अष्टभुजा धारी माता रानी जगदंबे की दिव्य एवं आकर्षक प्रतिमा शुभ मुहूर्त में पुनः होगी स्थापित माता जगदंबे की दिव्य एवं आकर्षक प्रतिमा को भक्तों और प्रशासन द्वारा लाया गया रतनगढ़ थाना परिसर स्थित शिव मंदिर पर प्रतिदिन होगी पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना

*श्री गोरेश्वर महादेव रतनगढ़ मैं अष्टभुजा धारी माता रानी जगदंबे की दिव्य एवं आकर्षक प्रतिमा शुभ मुहूर्त में पुनः होगी स्थापित*

*माता जगदंबे की दिव्य एवं आकर्षक प्रतिमा को भक्तों और प्रशासन द्वारा लाया गया रतनगढ़*

*थाना परिसर स्थित शिव मंदिर पर प्रतिदिन होगी पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना*

रतनगढ़:- विगत दिनों श्री गोरेश्वर महादेव परिसर रतनगढ़ में विराजित अति प्राचीन माता रानी की प्रतिमा अज्ञात व्यक्तियों द्वारा खंडित कर दी गई थी, जिसके कारण नगर एवं क्षेत्र की धर्म प्रेमी जनता में काफी आक्रोश व्याप्त हो गया था भक्तों की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए उस स्थान पर नवीन प्रतिमा की स्थापना हेतु सभी भक्तों की भावनाओं के अनुरूप सर्व समाज के भक्तजनों एवं प्रशासनिक अधिकारियों के सहयोग से श्री गोरेश्वर महादेव सेवा एवं विकास समिति के श्री ओम प्रकाश मूंदड़ा पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष रतनगढ़, श्री प्रल्हाद उस्ताद सोनी, श्री विमल कुमार व्यास श्री मोहन लाल जी सुखाड़िया सोलंकी, श्री हरीश कुमार माली श्री नीतू पाराशर अंकल टेंट हाउस, श्री भेरु लाल सोलंकी सहित समिति के सभी साथियों द्वारा मंगलवार को पशुपतिनाथ की नगरी मंदसौर पहुंच कर मां जगदंबे की आकर्षक अति सुंदर एवं दिव्य प्रतिमा ली गई जिसकी प्राण प्रतिष्ठा श्री गोरेश्वर महादेव मंदिर परिसर में पूरे विधि विधान से विद्वान पंडितों के मार्गदर्शन और उनके बताए समय एवं शुभ मुहूर्त में अभिषेक पूजन एवं हवन के उपरांत मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा, स्थापना की जाएगी इसके लिए मंगलवार देर रात को माता रानी की प्रतिमा को भक्त जनों द्वारा थाना परिसर रतनगढ़ में स्थित श्री शिव मंदिर के अंदर सुरक्षित रखी गई है जब तक माता रानी की प्रतिमा की स्थापना नहीं होगी तब तक यहां पर प्रतिदिन माता की पूजा अर्चना विधि अनुरूप होती रहेगी