सिंगोली में सुरेश जैन (भाया) बगडा ने लगाई जीत की हैट्रिक अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार श्री बगड़ा बने नगर में समर्थकों की पहली पसंद

*सिंगोली में सुरेश जैन (भाया) बगड़ा ने लगाई जीत की हैट्रिक, अध्यक्ष पद के है प्रबल दावेदार*

*श्री बगड़ा बने नगर में समर्थकों की पहली पसंद*

सिंगोली में भाजपा द्वारा नगर परिषद चुनाव में शानदार जीत हासिल करने के बाद अध्यक्ष पद की कवायद शुरू हो गई है। नगर परिषद में भाजपा की ओर से अध्यक्ष पद के प्रबल दावेदार जिला महामंत्री अशोक कुमार सोनी के चुनाव हार जाने के बाद दावेदारों की सूची में दूसरे और तीसरे क्रम के प्रबल दावेदार मोतीलाल धाकड़ और सुरेश जैन बगड़ा ने अच्छे मतों से जीत हासिल की है।
वैसे तो भाजपा ने टिकट वितरण में ही परिषद के मजबूत गठन को तव्वजो दी थी, लेकिन बताया जा रहा है कि अध्यक्ष पद की काबिलियत रखने वाले तीन अन्य उम्मीदवारों के चुनाव हार जाने के बाद, भाजपा अध्यक्ष पद का ताज इन दोनो के अलावा किसी तीसरे के सिर पर नहीं रखेगी।
ऐसी स्थिति में इन दोनों ही चेहरों को लेकर नगर में चर्चा का बाजार गर्म है। कहा जा रहा है कि मंत्री श्री ओमप्रकाश सकलेचा जिसके नाम को हरी झंडी देंगे वही सिंगोली नगर परिषद में अध्यक्ष पद के लिए सर्वमान्य होगा।
कथित तौर पर भाजपा में पनप रही आंतरिक महत्वाकांक्षा भले ही इस मिथक को तोड़ने में लगी हो लेकिन दोनो ही नवनिर्वाचित पार्षदों के समर्थक अपने अपने नेता के अध्यक्ष बन जाने का दावा भी कर रहे हैं। चूंकि ऐसी चर्चा है कि दोनों नेताओं को मंत्री श्री सकलेचा की ओर से तैयारी करने को कह दिया गया है।
जहां तक इनकी वित्तीय स्थिति की बात करें तो यह दोनों ही एक दूसरे से कम नहीं है। लेकिन साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि मंत्री सकलेचा दोनों के राजनैतिक जीवन और उनके अनुभव के आधार पर फैसला लेंगे।
अब अगर राजनीतिक अनुभव के आधार पर फैसला होता है तो यहां पर सुरेश जैन बगड़ा उर्फ भाया जी बाजी मारते दिख रहे हैं। क्योंकि भाया जी ने सिंगोली नगर परिषद में जीत की हैट्रिक लगाई है। वे भाजपा के टिकिट पर अलग-अलग वार्डो से लगातार तीसरी बार चुनाव जीते हैं और परिषद का लंबा अनुभव भी उनके पास है पार्षद पद पर रहते हुए उन्होंने अपने वार्डों में कई समस्याओं का भी समाधान किया है। राजनीति का लंबा अनुभव और मैनेजमेंट में माहिर श्री बगड़ा नगर की जनता की पहली पसंद बने हुए हैं और नगर की जनता भी उन्हें भावी अध्यक्ष के रूप में देख रही है यही कारण है कि उनके समर्थकों में भी भरपूर उत्साह दिखाई दे रहा हैं।