हमेशा धर्म विरोधी राजनीति करती है कांग्रेस और उनके नेता दिग्विजय सिंह – सुनील कटारिया

 

श्री हनुमान जन्मोत्सव चल समारोह में भारतीय जनता पार्टी नीमच जिला अध्यक्ष पवन पाटीदार ने 2 मिनिट हाथों में तलवार लेकर भक्ति मय नृत्य क्या कर लिया, कांग्रेसी नेताओं को धर्म विरोधी राजनीति करने का मौका मिल गया यह कहना है भारतीय जनता पार्टी के जिला उपाध्यक्ष सुनील कटारिया का, श्री कटारिया ने मामले को लेकर कांग्रेसी नेताओं सहित पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को जमकर आड़े हाथों लिया उन्होंने कहा कि हनुमान जन्मोत्सव पर भाजपा जिला अध्यक्ष श्री पवन पाटीदार ने तलवार क्या लहराई प्रदेश के वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के चाय के प्याले में तूफान आ गया, दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तक से गुहार की और नियम पूछ डाले, तरस आता है दिग्गी राजा की मानसिकता व आचरण पर जो व्यक्ति स्वयं संप्रदायिक कट्टरपंथी ताकतों को बढ़ावा देता है आतंकवादी या धर्मांध उपद्रवियों का समर्थन करता हूं और तो और संसद में दुर्दांत आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी कहकर महिमामंडित कर चुका हो, मस्जिद पर भगवा झंडा फहराने का झूठा मैसेज अपने टि्वटर पर डालता हो, ऐसे व्यक्ति के मुंह से उदारता व सदाचार की बातें शोभा नहीं देती, श्री कटारिया ने कहा कि नीमच जिला अध्यक्ष पवन पाटीदार ने हनुमान जयंती चल समारोह में तलवार लहरा कर किसी वर्ग समुदाय को डराया धमकाया नहीं अपितु अपनी श्रद्धा का प्रदर्शन किया है ।
प्रदेश के खरगोन सहित अन्य क्षेत्रों में राम नवमी जुलूस पर पत्थर चलाने वाले और पुलिस अधिकारी पर गोली चलाने वाले उत्पातो को लेकर दिग्गी राजा का मुंह तो बंद हो जाता है सार्वजनिक एंव राजनीतिक जीवन में नेताओं को मंच पर श्री हनुमान की गदा और तलवार आदि शस्त्र भेंट किये जाते हैं तो यह कैसे कानून विरोधी करते हो सकता है, हिंदू समाज किसी भी वर्ग समुदाय के चल से त्यौहार पर पत्थर या पेट्रोल बम नहीं फैंकता, पर यह भी सच है कि सनातन परंपरा अनुसार हर हिंदू शास्त्र के साथ शस्त्र भी पूजे जाते हैं । दिग्गी राजा जैसे धर्म विरोधियों की बेचैनी स्वभाविक है ।