माता रानी एवं गोरेश्वर महादेव सभी भक्तों का कल्याण करें संत श्री केदार जी महाराज गोरेश्वर महादेव रतनगढ़ में अष्टभुजा माता रानी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा शिव परिवार मंदिर पुनर्निर्माण भूमि पूजन संपन्न

*माता रानी एवं गोरेश्वर महादेव सभी भक्तों का कल्याण करें- संत श्री केदार जी महाराज*

*गोरेश्वर महादेव रतनगढ मे अष्टभुजा माता रानी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा व शिव परिवार मंदिर पुनर्निर्माण भूमि पूजन संपन्न*

रतनगढ़:- अभिजीत मुहूर्त में पुष्प नक्षत्र मे श्री अष्टभुजा माता रानी की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा किया जाना धर्म शास्त्र के अनुसार बहुत महत्वपूर्ण होता है विधि विधान के अनुरूप यदि इस दिन प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की जाती है। तो वह बहुत चमत्कारी होती है और भक्तों के लिए लोक कल्याणकारी होती है। जो सभी का मंगल करती है उक्त आशय के विचार खामौर भीलवाड़ा के पधारे भागवत प्रवक्ता व श्री राम कथा वाचक संत श्री केदार जी महाराज ने श्री गोरेश्वर महादेव रतनगढ में तीन दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान अष्टभुजा माता रानी की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा अवसर पर अंतिम दिवस बड़ी संख्या में उपस्थित भक्तों को अपने आशीर्वचन देते हुए व्यक्त किए। इस अवसर पर श्री गोरेश्वर महादेव मंदिर परिसर में शिव परिवार की खंडित प्रतिमा के स्थान पर शिव परिवार की नवीन मुर्ति स्थापना एवं मंदिर के नवनिर्माण करने के लिए भक्तजनों की उपस्थिति में वैदिक रिति व मंत्रोचार के साथ अभिजीत मुहूर्त में भूमि पूजन किया गया। संत श्री ने इस अवसर पर श्री गोरेश्वर महादेव सेवा एवं विकास समिति के सभी सदस्यों एवं बड़ी संख्या में उपस्थित श्रद्धालु भक्तजनों को आशीर्वाद देते हुए धर्म एवं सेवा के कार्यों में लगे रहने का आह्वान किया।
*माता रानी की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के साथ तीन दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान संपन्न*-ज्ञात रहे कि लगभग 6 माह पूर्व श्री गोरेश्वर महादेव में विराजी माता रानी की प्रतिमा को अज्ञात असामाजिक तत्वों द्वारा खंडित कर दिया गया था इसके लिए श्री गोरेश्वर महादेव सेवा विकास समिति के सभी सदस्यों ने भक्तजनों के सहयोग से खंडित प्रतिमा के स्थान पर नवीन मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा का संकल्प लिया था। उसी के अनुरूप प्राण प्रतिष्ठा के पूर्व बैंड बाजों के साथ नगर में अष्टभुजा माता रानी की शोभायात्रा मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा, भोजन प्रसादी के साथ तीन दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान संपन्न हुआ। इस अवसर पर 6 मई 7 मई 8 मई रविवार को विद्वान पंडितों के द्वारा पं.संदीप तिवारी के मार्गदर्शन में लगातार मंत्रोचार यज्ञ,हवन, पूजन व अभिषेक के साथ अनुष्ठान किया गया। एवं नवीन ट्यूबवेल खनन मे आए भरपूर पानी से मूर्ति के अभिषेक प्राण प्रतिष्ठा के पश्चात बड़ी संख्या में उपस्थित श्रद्धालु महिला पुरुष भक्तो ने श्री गोरेश्वर महादेव परिसर में बैठकर प्रसाद ग्रहण किया। इससे पूर्व 101 कुंवारी कन्याओं को कुमकुम तिलक लगाकर उनका पूजन कर दक्षिणा प्रदान कर आशीर्वाद लिया। साथ ही मंदिर में सेवा करने वाले पुजारी सीताराम भोपा, गोपाल भोपा व बगदीराम माली का भी कुमकुम तिलक लगाकर पुष्पमाला पहनाकर वस्त्र भेंट कर सम्मान किया गया।इस अवसर पर श्री गोरेश्वर महादेव सेवा विकास समिति के ओमप्रकाश मूंदड़ा, विमल व्यास, मोहनलाल सुखाड़िया, हरीश माली, प्रहलाद उस्ताद सोनी,सुनिल बैरागी, अखिलेश खटोड़, ब्रजमोहन वैष्णव, मंगल मीणा, मोहन गुर्जर, शिव बैरागी, पवन बैरागी, रामपाल सोलंकी, नाथूलाल भाटी, रामचंद्र माली, प्रहलाद शर्मा, धीरज व्यास, रणमा गुर्जर, राजेश लढा, प्रकाश व्यास, टीकम चारण,शोकिनलाल सोनी, राजेंद्र तुगनावत, मनीष पाराशर, गोपाल कुमावत, कमलेश अग्रवाल, दिपक बैरागी, निटू पाराशर, भेरूलाल मेघवाल,राजू माली,भैरुलाल सोलंकी, आदि समिति सदस्यों ने संत श्री का स्वागत व चरण वंदना कर आशीर्वाद लिया।